Entertainment

Heath Tips

  • In enim justo, rhoncus ut, imperdiet a
  • Fringilla vel, aliquet nec, vulputateDonec pede justo,  eget, arcu. In enim justo, rhoncus ut, imperdiet a, venenatis vitae, justo.Nullam dictum felis eu pede mollis pretium.

Education

कांग्रेस के सीनियर नेता अहमद पटेल को आयकर विभाग ने समन जारी किया है

कांग्रेस के सीनियर नेता अहमद पटेल को आयकर विभाग ने समन जारी किया है

कांग्रेस नेता अहमद पटेल को इन्कमटैक्स का नोटिस, अब 400 करोड़ के हवाला मामले में होगी पूछताछ :

अहमद पटेल मौजूदा समय में अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के ट्रेज़रर पद पर हैं. अहमद पटेल को कांग्रेस के 400 करोड़ रुपये के हवाला मामले में नोटिस जारी कर पेश होने का आदेश दिया गया है. कांग्रेस के सीनियर नेता अहमद पटेल को आयकर विभाग ने समन जारी किया है.
पटेल को 400 करोड़ रुपये के हवाला ट्रांजेक्शन मामले में ये नोटिस जारी कर पेश होने का आदेश दिया गया है. अहमद पटेल को ये समन अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के कोषाध्यक्ष (ट्रेज़रर) पद पर रहने के दौरान के लिए दिया गया है.
इनकम टैक्स डिपार्टमेंट विभिन्न कंपनियों द्वारा भेजे गए हवाला ट्रांजेक्शन की जांच कर रहा है.
आरोप है कि हवाला की रकम कांग्रेस के खातों में भी आया था. बताया जा रहा है कि करीब 400 करोड़ से ज्यादा की रकम कांग्रेस के खातों में आई थी. पटेल को ये नोटिस मध्य प्रदेश और दक्षिण भारत से कांग्रेस के खातों में आए पैसों की बाबत दिया गया है. इसके पहले इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने अहमद पटेल को 11 फरवरी को समन जारी किया था और 14 फरवरी को पेश होने को कहा था.
ये समन आईटी एक्ट के सेक्शन 131 के तहत जारी किया गया था. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने इस मामले में कांग्रेस के लेखा डिवीजन के अधिकारियों के दफ्तर में भी छापेमारी की थी.
हालांकि, अहमद पटेल 14 फरवरी को तबीयत खराब होने की दलील देकर पेश नहीं हुए थे.
उन्होंने कहा था कि उन्हें सांस की दिक्कत है और वह फरीदाबाद के मेट्रो अस्पताल में भर्ती हैं.

इस मामले से जुड़ी कुछ कड़ियाँ :

20 करोड़, हवाला रैकेट, घेरे में आए अहमद पटेल :

दिल्ली में अहमद पटेल के अकाउंटेंट एसएम मोईन के घर पड़ी छापेमारी की कहानी मध्य प्रदेश से ही शुरू होती है. जहां पर मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी के ठिकानों पर छापेमारी हुई थी. उसी से तार जुड़े तो मामला सामने आया कि हवाला के जरिए दिल्ली में 20 करोड़ रुपये भेजे गए हैं.
हवाला केस में आया अहमद पटेल के करीबी का नाम लोकसभा चुनाव के पहले चरण के लिए होने वाले मतदान का काउंटडाउन अब शुरू हो गया है. इस बीच बीते 48 घंटों में हुई आयकर विभाग की कार्रवाई से सियासत अपने उबाल पर है. पहले मध्य प्रदेश की छापेमारी में 281 करोड़ की संपत्ति बरामद हुई तो दिल्ली में कांग्रेस नेता अहमद पटेल के करीबी पर छापा पड़ा. अहमद पटेल से जुड़ा मामला हवाला से जुड़ा है, जिसके बाद वह फिर निशाने पर हैं. आखिर इसके पीछे पूरी कहानी क्या है और कांग्रेस का नाम इसमें कहां से आया, यहां समझते हैं…

जादूगर’ गहलोत ने खोला पिटारा, कहा पूरा राजस्थान हमारा परिवार

सीएएफ के एक जवान ने शनिवार रात साथियों पर फायरिंग कर दी

दरअसल, दिल्ली में अहमद पटेल के अकाउंटेंट एसएम मोईन के घर पड़ी छापेमारी की कहानी मध्य प्रदेश से ही शुरू होती है. जहां पर मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी के ठिकानों पर छापेमारी हुई थी. उसी से तार जुड़े तो मामला सामने आया कि हवाला के जरिए दिल्ली में 20 करोड़ रुपये भेजे गए हैं.
जब बात आगे बढ़ी तो पता लगा कि ये पैसे दिल्ली कांग्रेस दफ्तर में रिसीव किए गए हैं, जिसे एसएम मोईन ने रिसीव किया है. मोईन को अहमद पटेल के करीबी सूत्र अहमद पटेल का चीफ अकाउंटेंट बता रहे हैं. अहमद पटेल का नाम इस मामले में तब आया जब आयकर विभाग के हाथ एक तस्वीर लगी जिसमें अहमद पटेल और एसएम मोईन एक साथ थे.
आयकर विभाग ने अपने बयान में कहा, ‘’कैश का कुछ हिस्सा दिल्ली में मौजूद एक बड़े राजनीतिक दल के दफ्तर में ट्रांसफर हुआ था, जिसमें शामिल 20 करोड़ रुपये हवाला के जरिए पार्टी के एक बड़े नेता को दिए गए, जिनका निवास तुगलक रोड में है.’’ इस पूरे मामले में आयकर विभाग ने दिल्ली, एनसीआर, भोपाल, इंदौर और गोवा में छापेमारी की. बताया जा रहा है कि करीब 300 अधिकारियों ने ये सर्च ऑपरेशन चलाया और 52 ठिकानों पर रेड मारी.

इस मामले पर विवाद बढ़ा तो अहमद पटेल के करीबी सूत्र ने भी सफाई जारी की.

सूत्र के अनुसार ‘अहमद पटेल पार्टी के कोषाध्यक्ष हैं और जिसके घर आयकर विभाग ने छापा मारा वह एसएम मोइन उनका ही चीफ अकाउंटेंट है. सोमवार को वह पूरे दिन ऑफिस नहीं आया था, बताया गया कि वह बीमार है. अहमद पटेल शाम को उनके घर हालचाल लेने पहुंचे तो उन्हें छापेमारी की कोई जानकारी नहीं थी. उन्हें वहां पर जाने से भी किसी ने रोका नहीं था.’

user

RELATED POSTS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read also x

Close Bitnami banner
Bitnami